Raakh lyrics

राख Raakh Lyrics in Hindi and English. Raakh Song Lyrics Shubh Mangal Zyada Saavdhan Bollywood movie sung by Arijit Singh, lyricist Vayu, Music by Tanishk, Vayu, starring by Ayushmann Khurrana, Gajraj Rao, Neena Gupta, under the Music Label T-Series.

Song: Raakh
Movie: Shubh Mangal Zyada Saavdhan
Singers: Arijit Singh
Starring: Ayushmann Khurrana, Gajraj Rao, Neena Gupta,
Music: Tanishk, Vayu
Lyricist: Vayu
Music Label: T-Series

English
हिन्दी

Raakh LYRICS

Wo Kehte Hain Ishq Had Mein Karo
Jo Ishq Kya Hai Na Jaane
Ye Dil To Anpadh Dehaati Sa Hai
Kya Kuchh Lika Hai Kya Jaane

Baahar Se Dekha Jinhone
Andar Chale Kya Kya Jaane

Hum Jal Jayenge Raakh Bachegi
Ishq Mein Itna Aag Bachegi
Fir Bhi Inn Seeli Aankhon Mein
Aakhiri Lau Tak Aas Bachegi

Jal Jayenge Raakh Bachegi
Ishq Mein Itna Aag Bachegi
Fir Bhi Inn Seeli Aankhon Mein
Aakhiri Lau Tak Aas Bachegi

Chup Toh Na Hogi Mohabbat
Dushwariyon Se Dara Ke
Ummeed Iska Lahu Hai
Hai Dard Iski Khuraakein
Jitne Zakham Aur Judenge
Utna Badhengi Ye Shaakhein

Wo Kaat Daale Humein Chaahe Roz
Zidd Jad Mein Hai Kya Karenge
Ek Pyaar Ek Jung Dono Ke Dosh
Ek Ghar Mein Hai Kya Karenge

Ek Dil Hi Khud Mein Bahot Hai
Kis Kis Ki Parwaah Karenge

Hum Jal Jayenge Raakh Bachegi
Ishq Mein Itna Aag Bachegi
Fir Bhi Inn Seeli Aankhon Mein
Aakhiri Lau Tak Aas Bachegi

Jal Jayenge Raakh Bachegi
Ishq Mein Itna Aag Bachegi
Fir Bhi Inn Seeli Aankhon Mein
Aakhiri Lau Tak Aas Bachegi

Raakh Lyrics in Hindi

वो कहते हैं इश्क़ हद में करो
जो इश्क़ क्या है ना जाने
ये दिल तो अनपढ़ देहाती सा है
क्या कुछ लिखा है क्या जाने

बाहर से देखा जिन्होंने
अंदर चले क्या क्या जाने

हम जल जाएंगे राख बचेगी
इश्क़ में इतना आग बचेगी
फिर भी इन सीली आंखों में
आखिरी लॉ तक आस बचेगी

जल जाएंगे राख बचेगी
इश्क़ में इतना आग बचेगी
फिर भी इन् सीली आंखों में
आखिरी लॉ तक आस बचेगी

हम्म..
ओ..

चुप तो ना होगी मोहब्बत
दुशवारियों से डरा के
उम्मीद इसका लहू है
है दर्द इसकी खुराकें
हिन्दी ट्रैक्स डॉट इन
जितने ज़ख़्म और जुड़ेंगे
उतना बढ़ेंगी ये शाखें

वो काट डाले हमें चाहे रोज़
ज़िद्द जड़ में है क्या करेंगे
एक प्यार एक जंग दोनों के दोष
एक घर में है क्या करेंगे

एक दिल ही खुद में बहोत है
किस किस की परवाह करेंगे

हम जल जाएंगे राख बचेगी
इश्क़ में इतना आग बचेगी
फिर भी इन सीली आंखों में
आखिरी लॉ तक आस बचेगी

जल जाएंगे राख बचेगी
इश्क़ में इतना आग बचेगी
फिर भी इन सीली आंखों में
आखिरी लॉ तक आस बचेगी

ओ..
हम्म..